डीएनए और आरएनए में अंतर (Difference between D.N.A and R.N.A)

डीएनए और आरएनए में अंतर (Difference between D.N.A and R.N.A) :: आज www.EexamPaper.com आपके लिए विज्ञान के अंतर्गत आने वाला एक महत्वपूर्ण टॉपिक डीएनए और आरएनए में अंतर लेकर आए हुए हैं|

डीएनए और आरएनए में अंतर समझने से पहले हमें यह समझना होगा कि डीएनए किसे कहते हैं? आरएनए किसे कहते हैं? डीएनए के कितने प्रकार होते हैं? आरएनए के कितने प्रकार होते हैं? डीएनए की खोज किसने की थी? आरएनए की खोज किसने की थी आज हम इन सब प्रश्नों की संपूर्ण चर्चा इस आर्टिकल में करेंगे।

इन्हें भी पढ़े – जंतु कोशिका और पादप कोशिका में अंतर, तुलना तथा समानता

धमनी और शिरा में अंतर, Difference Between Arterie And Vein

डीएनए और आरएनए में अंतर (Difference between D.N.A and R.N.A)

डीएनए और आरएनए में अंतर बताइए,डीएनए और आरएनए में क्या अंतर है,डीएनए और आरएनए में अंतर लिखिए,डीएनए और आरएनए हिंदी में अलग,डीएनए परिभाषा in hindi,आर एन ए की खोज किसने की थी,डीएनए क्या है,rna के कार्य,डीएनए की खोज,डीएनए फुल फॉर्म इन हिंदी,टी आरएनए संरचना,rna के कार्य rna क्या है,रना की खोज किसने की,आर एन ए का फुल फॉर्म,आर एन ए का पूरा नाम बताइ,डीएनए और आरएनए में अंतर, डीएनए क्या होता हैं? आरएनए क्या होता हैं? आरएनए और डीएनए में अंतर, डीएनए के प्रकार, डीएनए की खोज किसने की थी? आरएनए की खोज किसने की थी?
यह इमेज कॉपीराइट वाली हो सकती है इमेज सोर्स https://gyanapp.in
डीएनए और आरएनए में अंतर (Difference between D.N.A and R.N.A)

डीएनए किसे कहते हैं और डीएनए क्या होता(Deoxyribonucleic acid) ?

डीएनए क्या होता है यह समझने से पहले हमें जानना होगा डीएनए का फुल फॉर्म/Fullform of D.N.A. (डीऑक्सीराइबोज न्यूक्सिक्लिक एसिड/Deoxyribo Nucleic Acid) और डीएनए की खोज किसने की थी?इसकी की खोज सर्वप्रथम फिद्रीक मीश्चर ने किया था। डीएनए सभी जीवों में एक वंशानुगत पदार्थ है। डीएनए में डीऑक्सीराइबोज नामक शर्करा होती है यह केवल कोशिकाओं के केंद्रक में पाई जाती हैं। डीएनए में यूरेसिल की कमी होती हैं। इसकी संंरचना डबल हेलिक्स होती हैं जिसकी खोज वाटसन और क्रीक ने की थी। इसमेें एडेनिन, ग्वानिन, साइटोसिन और थाइमिन नामक चार नाइट्रोजनी क्षार होते हैं।  डीएनए की कुछ मात्रा माइटोकांड्रिया में भी पाई जाती है जिसे एमटीडीएनए या माइटोकांड्रियल डीएनए (mtDNA or mitochondrial DNA) के रूप में जाना जाता है।

डीएनए के प्रकार (Types Of D.N.A) -:: डीएनए का मूल से रूप कोई प्रकार नहीं होता है। लेकिन द्विकुंडल के घूर्णन के आधार पर डीएनए के दो प्रकार  होता है।

  1. दक्षिणावर्ती डीएनए या B-D.N.A
  2. वामावर्त डीएनए या Z-D.N.A

डीएनए के कार्य (Funtion Of D.N.A) -:: डीएनए का प्रमुख कार्य अनुवांशिक गुणों को एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ले जाना होता है।

आरएनए किसे कहते हैं और आरएनए क्या होता है (Ribonucleic acid) ?

आरएनए का Full Form या पूरा नाम राइबोन्यूक्लिक एसिड (Ribose Nucleic Acid) होता है। आरएनए भी अनुवांशिक होता है। एक इसमें राइबोज श्रृंखला होती है। यह कोशिकाओं के केंद्र के अतिरिक्त यह कोशिका द्रव्य में भी पाया जाता है यह राइबोसोम कोशिकांग के समग्र भाग को बनाता है तथा इसकी संरचना एकल सूत्र संरचना होती है आरएनए में थायमीन नामक क्षार नहीं होता है उसकी जगह पर यूरेसिल नामक क्षार होता है। आरएनए को निर्देश डीएनए से मिलता है जो कि प्रोटीन संश्लेषण को नियंत्रित करता है।

आरएनए के प्रकार कितने होते हैं ?

आरएनए कुल 3 प्रकार के होते हैं।

  1. संदेशवाहक आरएनए (Messenger RNA) या mRNA
  2. राइबोसोमल आरएनए (Ribosomal RNA) या rRNA
  3. स्थानांतरण आरएनए (Transfer RNA) या tRNA

आरएनए का क्या कार्य होता है ?

आरएनए का प्रमुख का प्रोटीन का निर्माण करना होता है।

डीएनए और आरएनए में अंतर (Difference between D.N.A and R.N.A)

डीएनए (D.N.A)आरएनए (R.N.A)
डीएनए का मतलब होता है (डीऑक्सीराइबोज न्यूक्सिक्लिक एसिड/Deoxyribo Nucleic Acid)आरएनए का मतलब होता है राइबोन्यूक्लिक एसिड (Ribose Nucleic Acid)
डीएनए मुख्य केंद्रक में पाया जाता है।आरएनए मुख्य केंद्र तथा कोशिका द्रव्य में भी पाया जाता है।
यह न्यूक्लियोटाइड की एक लंबी श्रृंखला से मिलकर दो-फंसे हुए अणु है। जिससे मिलकर डीएनए बनता है।यह न्यूक्लियोटाइड की छोटी श्रृंखलाओं वाले एकल-भूग्रस्त हेलिक्स हैl जिससे मिलकर आरएनए बनता है।
डीएनए अल्ट्रावायलेट किरणों से छतिग्रस्त हो सकता है।आरएनए पर अल्ट्रावायलेट किरणों का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
डीएनए नई कोशिकाओं और जीवो को उत्पन्न करने तथा उनकी अनुवांशिक जानकारी को एकत्रित करता है और इसको स्थानांतरित भी करता है।आरएनए इसका प्रयोग आनुवंशिक सूचकांक को न्यूक्लियस से राईबोसोम में प्रोटीन बनाने के लिए और डीएनए की प्रतिलिपि के दिशानिर्देशों को ले जाने में किया जाता है।
डीएनए स्वयं से प्रतिकृति है या स्वयं से ही बनता रहता है।आरएनए स्वयं से प्रतिकृति या स्वयं से नहीं बनता है इसको आवश्यकता होने पर डीएनए से संश्लेषित किया जाता है।
डीएनए में फॉस्फेट समूह, पाँच कार्बन शुगर (स्थिर डीओक्सीराइबोज 2) और चार नाइट्रोजन बेस वाले दो न्यूक्लियोटाइड किस्म होता हैं।आरएनए में फॉस्फेट समूह, पांच कार्बन शुगर (कम स्थिर राइबोस) और चार नाइट्रोजन बेस से युक्त एक अकेला होता है।
इसमेें एडेनिन, ग्वानिन, साइटोसिन और थाइमिन नामक चार नाइट्रोजनी क्षार होते हैं।आरएनए में थायमीन नामक क्षार नहीं होता है उसकी जगह पर यूरेसिल नामक क्षार होता है।
किसी भी सेल के लिए डी.एन.ए. की मात्रा तय होती है।किसी भी सेल के लिये आर. एन. ए. की मात्रा बदल सकती है।
डी.एन.ए. की बेस पेरिंग एटी(AT) और जीसी(GC) है।आर. एन. ए. की बेस पेरिंग ए.यू.(AU) और जीसी(GC) है।

Tags – डीएनए और आरएनए में अंतर बताइए,डीएनए और आरएनए में क्या अंतर है,डीएनए और आरएनए में अंतर लिखिए,डीएनए और आरएनए हिंदी में अलग,डीएनए परिभाषा in hindi,आर एन ए की खोज किसने की थी,डीएनए क्या है,rna के कार्य,डीएनए की खोज,डीएनए फुल फॉर्म इन हिंदी,टी आरएनए संरचना,rna के कार्य rna क्या है,रना की खोज किसने की,आर एन ए का फुल फॉर्म,आर एन ए का पूरा नाम बताइ,डीएनए और आरएनए में अंतर, डीएनए क्या होता हैं? आरएनए क्या होता हैं? आरएनए और डीएनए में अंतर, डीएनए के प्रकार, डीएनए की खोज किसने की थी? आरएनए की खोज किसने की थी?

1 thought on “डीएनए और आरएनए में अंतर (Difference between D.N.A and R.N.A)”

Leave a Comment